शेयर मार्किट क्या है: What is Share Market in Hindi

What is share market in hindi | Share market kya hai | Share market knowledge in hindi | About share market in hindi | शेयर मार्किट क्या है

About share market in hindi

वर्तमान समय में बहुत सारे लोग शेयर मार्केट में निवेश कर रहे हैं। ऐसा इसलिए क्योंकि पिछले कुछ सालों में शेयर मार्केट में अपने निवेशकों को बेहतर रिटर्न दिया है। इसी को देखते हुए कई सारे लोग शेयर मार्केट में अपना हाथ आजमाने की कोशिश कर रहे हैं। शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले आपको यह जानना बहुत ही जरूरी है कि शेयर मार्केट क्या है? (Share Market Kya Hai?) यदि आप शेयर मार्केट के बारे में (About Share Market in Hindi) अच्छी तरह से जानते हैं, तो आपको बेहतर मुनाफा मिल सकता है। इसीलिए इस आर्टिकल में हम आपको शेयर मार्केट से संबंधित जानकारी (Share Market Knowledge in Hindi) देने जा रहे हैं।

बहुत सारे लोग शेयर मार्केट के नाम पर इसमें निवेश करने से हिचकते हैं। अक्सर बहुत सारे लोग यह बात करते हैं कि शेयर मार्केट में निवेश करने से नुकसान होता है। लेकिन यदि आप को शेयर मार्केट के बारे में अच्छी तरह से जानकारी है तो आप इसमें बेहतर मुनाफा कमा सकते हैं और अपनी आय बढ़ा सकते हैं। अक्सर शेयर मार्केट में उन्हीं लोगों को नुकसान का सामना करना पड़ता है जिन्हें शेयर मार्केट के बारे में अच्छी तरह से जानकारी नहीं होती है। यदि आप किसी शेयर में निवेश करने जा रहे हैं तो उस शेयर के पिछले प्रदर्शन और शेयर निकालने वाली कंपनी के बारे में अच्छी तरह से मालूम होना चाहिए। किसी और चीज के बारे में बात करने से पहले अब हम आपको बताएंगे कि शेयर मार्केट क्या है?

शेयर मार्केट क्या है? (Share Market Kya Hai?)

जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है कि यह शेयरों का बाजार होता है। जिस तरह से किसी बाजार में वस्तुओं की बिक्री एवं खरीद होती है ठीक उसी प्रकार से शेयर मार्केट में भी शेयरों की बिक्री एवं खरीद की जाती है। दरअसल शेयर मार्केट में कई सारी कंपनियों के शेयर लिस्टेड रहते हैं, जिनमें से आप अपने पसंद के अनुसार किसी भी कंपनी के शेयर में निवेश कर सकते हैं। आमतौर पर शेयर मार्केट को स्टॉक एक्सचेंज भी कहा जाता है। भारत में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज और नेशनल स्टॉक एक्सचेंज 2 शेयर मार्केट हैं। इन दोनों स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड किसी भी शेयर को खरीदा एवं बेचा जा सकता है।

भारत में सबसे पुराना स्टॉक एक्सचेंज बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज है जिसे संक्षिप्त रूप में BSE के नाम से जाना जाता है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज को लगभग 146 साल पहले 9 जुलाई 1875 में शुरू किया गया था। वर्तमान समय में बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में 5439 कंपनियां लिस्टेड है। बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज में शीर्ष 30 कंपनियों के प्रदर्शन के हिसाब से इंडेक्स बनाया जाता है, इसे सेंसेक्स (Sensex) कहा जाता है।

इसी तरह नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (NSE) में शीर्ष 50 कंपनियों के शेयरों के प्रदर्शन के हिसाब से इंडेक्स जारी किया जाता है। इस इंडेक्स को Nifty 50 के नाम से जानते हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि नेशनल स्टॉक एक्सचेंज को लगभग 30 साल पहले 1992 में शुरू किया गया था। इस स्टॉक एक्सचेंज में 2002 कंपनियां लिस्टेड हैं। आप बॉम्बे स्टॉक एक्सचेंज एवं नेशनल स्टॉक एक्सचेंज में लिस्टेड किसी भी कंपनी का शेयर खरीद एवं बेच सकते हैं।

शेयर क्या होता है? (Share Kya Hai?)

शेयर मार्केट के बारे में जानने के बाद आपको यह भी जानना जरूरी है कि शेयर क्या होता है? दरअसल शेयर शब्द का हिंदी अर्थ साझा होता है। यदि आप शेयर मार्केट से किसी कंपनी का कोई शेयर खरीदते हैं तो इसका मतलब यह है कि आप उस कंपनी के कुछ प्रतिशत साझेदार बन चुके हैं। जैसे किसी कंपनी की कुल वैल्यू 100 करोड़ की है और उस कंपनी ने 50 करोड़ रुपए के शेयर जारी किए हुए हैं तो आप उस कंपनी के शेयरों में कुल 50 लाख रूपए का निवेश करते हैं, तो इसका मतलब यह है कि आप उस कंपनी के 0.5% साझेदार बन चुके हैं।

हालांकि शेयर मार्केट में लिस्टेड कंपनियों के 1 शेयर की कीमत मार्केट में चल रहे उसके प्रदर्शन के अनुसार तय होती है। यदि किसी कंपनी के अधिक से अधिक शेयर खरीदे जा रहे हैं और साथ ही साथ उस कंपनी को अच्छा खासा मुनाफा हो रहा है तो शेयर की कीमत बढ़ती जाएगी। लेकिन यदि किसी कंपनी का से पहले अधिक खरीदा गया है और बाद में उसे अधिक बेचा जा रहा है तो उस शेयर की कीमत नीचे गिरती जाएगी। हालांकि शेयरों की कीमत बढ़ने एवं घटने का कारण उस कंपनी का बिजनेस में प्रदर्शन भी होता है। यदि किसी कंपनी का बिजनेस अच्छी तरह से चल रहा होता है तो निवेशकों का उस पर अधिक भरोसा होता है और अधिक से अधिक लोग उसके शेयर खरीदते हैं।

शेयर मार्केट से शेयर कब खरीदना चाहिए? (Share Market Se Share Kab Kharidna Chahiye?)

उम्मीद है कि आप शेयर एवं शेयर मार्केट के बारे में अच्छी तरह से समझ चुके होंगे। यदि आप शेयर मार्केट से कोई शेयर खरीदना चाहते हैं तो आपको यह जानना जरूरी है कि शेयर मार्केट से शेयर कब खरीदना चाहिए? शेयर खरीदते समय आपको कई सारी चीजों का ध्यान रखना पड़ता है ताकि भविष्य में आपको नुकसान न झेलना पड़े। शेयर मार्केट से शेयर खरीदते समय निम्नलिखित बातों का ध्यान में रखना जरूरी है।

सबसे पहले कंपनी के बारे में पूरी जानकारी हासिल कर लें और इसके बाद उसके बिजनेस के पिछले प्रदर्शन और भविष्य में उसके बिजनेस के बढ़ने की संभावनाओं पर विचार करें।

शेयर की लगातार बढ़ रही कीमतों को देखकर कभी उसके प्रति आकर्षित ना हो। क्योंकि शेयर मार्केट में ऐसे बहुत सारे शेयर होते हैं, जो अपनी कीमत बढ़ाकर लोगों के साथ छलावा करते हैं। इसीलिए किसी भी कंपनी के शेयर की बढ़ती कीमत को देखकर सबसे पहले उसके बिजनेस के प्रदर्शन पर नजर डालें।

कोई भी शेयर खरीदने से पहले उसके पिछले प्रदर्शन पर भी नजर रखें कि वह लगातार अच्छा प्रदर्शन कर रहा है या नहीं। किसी अच्छे कंपनी के शेयर की कीमत गिरने का मतलब यह नहीं है कि वह भविष्य में कभी भी ऊपर नहीं उठेगा।

यदि किसी अच्छी एवं विश्वासपात्र कंपनी के शेयर की कीमत अचानक नीचे गिर गई है और भविष्य में उसके बिजनेस में वृद्धि होने की संभावना है तो ऐसा शेयर खरीदना आपके लिए काफी बेहतर विकल्प हो सकता है। हालांकि ऐसे शेयरों में आपको लंबे समय के लिए निवेश करना पड़ता है।

शेयर मार्केट में सिर्फ वही पैसा निवेश करें जिस के डूब जाने से आपकी आर्थिक स्थिति पर कुछ खास असर न पड़े।

यदि आप शेयर मार्केट में अपना हाथ आजमाने जा रहे हैं तो हमेशा लंबे समय के लिए निवेश करें। क्योंकि लंबे समय के लिए निवेश करने पर जोखिम कम और अधिक मुनाफा के अवसर होते हैं।

यदि आप शेयर मार्केट में कम समय के लिए निवेश कर रहे हैं तो इसमें अधिक जोखिम होता है और साथ ही साथ नुकसान का खतरा अधिक बना रहता है।

किसी भी शेयर में निवेश करने से पहले आपको शेयर मार्केट के बारे में पूरी समझ होनी चाहिए। इसके लिए आप किसी शेयर के बारे में अच्छी तरह से जानकारी करके छोटी रकम निवेश करें। ताकि यदि वह रकम डूब भी जाए तो आपको कोई समस्या उत्पन्न ना हो।

शेयर मार्केट में निवेश करने पर धैर्य रखना बहुत ही जरूरी होता है। क्योंकि बहुत सारे लोग जब किसी शेयर में निवेश करते हैं तो उसकी कीमत गिरते ही वह अपना पैसा हटा लेते हैं। इसके चलते उन्हें नुकसान झेलना पड़ता है और वह कभी भी शेयर मार्केट की दुनिया में सफलता नहीं प्राप्त कर पाते।

यदि आप ऊपर बताई गई इन 10 बातों का अनुसरण करते हैं तो आपको शेयर मार्केट में अच्छा खासा मुनाफा मिल सकता है। ऊपर बताई गई बातों को अच्छी तरह से समझ लेने के बाद ही आपको शेयर मार्केट से शेयर खरीदना चाहिए।

शेयर मार्केट में कैसे निवेश करें? (Share Market Mein Kaise Nivesh Kare‌ )

यदि आप शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो इसके लिए आपके पास Demat Account होना बहुत ही जरूरी होता है। वर्तमान समय में ऐसी बहुत सारी ऑनलाइन ट्रेडिंग कंपनियां चल रही हैं जो आपके लिए Demat Account ओपन करने की सुविधा उपलब्ध कराती हैं। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि Demat Account में आपके द्वारा खरीदा गया शेयर इलेक्ट्रॉनिक फॉर्म में सुरक्षित रखा जाता है। जैसे ही आप शेयर मार्केट से कोई शेयर खरीदते हैं वैसे ही यह आपके Demat Account में दर्ज हो जाता है।

इसके बाद जब आप उस शेयर को बेचते हैं तो उसका रिकॉर्ड भी आपके Demat Account में दर्ज कर दिया जाता है। यह बैंक अकाउंट की तरह होता है। जैसे आप बैंक अकाउंट में पैसे डालते या निकालते हैं तो आपके पास बुक पर उसका डेटा दिखाई देने लगता है, ठीक उसी प्रकार Demat Account में कोई शेयर खरीदने एवं बेचने पर उसका डेटा दिखाई देता है।

Demat Account कैसे ओपन करवाएँ? (Demat Account Kaise Open Kare )

यदि आप शेयर मार्केट में निवेश करने की योजना बना रहे हैं और इसके लिए Demat Account ओपन कराना चाहते हैं तो इसके 2 तरीके होते हैं।

  1. शेयर मार्केट ब्रोकर के जरिए

यदि आप Demat Account ओपन कराना चाहते हैं तो यह काम शेयर मार्केट ब्रोकर के जरिए ही किया जाता है। आप खुद से कोई भी Demat Account नहीं खोल सकते हैं। हालांकि वर्तमान समय में ऐसे बहुत सारे ऑनलाइन एप्लीकेशन और वेबसाइट लॉन्च किए जा चुके हैं जो आपको घर बैठे Demat Account खोलने की सुविधा उपलब्ध कराते हैं। यह कंपनियां शेयर मार्केट ब्रोकर ही होती हैं। शेयर मार्केट ब्रोकर शेयर खरीदने एवं बेचने पर कुछ प्रतिशत कमीशन चार्ज करते हैं। इसके अलावा वह आपको कुछ सुविधाएं देने के लिए भी चार्ज कर सकते हैं। यह आपको खुद तय करना होता है कि किस ब्रोकर द्वारा कितना कम चार्ज लिया जा रहा है।

  1. बैंक के जरिए

वर्तमान समय में ऐसे बहुत सारे सरकारी एवं निजी क्षेत्र के बैंक हैं जिसमें Demat Account खोलने की सुविधा उपलब्ध कराई जाती है। आप चाहें तो अपने नजदीकी बैंक शाखा में जाकर Demat Account ओपन करवा सकते हैं। हमेशा उसी बैंक में अपना Demat Account ओपन कराएं जहां पर आपका पहले से ही बचत खाता खुला हुआ हो। क्योंकि इससे आपको काफी सुविधा होगी।

शेयर की कीमत कब गिरती और ऊपर जाती है? (Share Ki Keemat Kab Girti Aur Upar Jati Hai?)

शेयर मार्केट में निवेश करने से पहले आपको यह जानना जरूरी है कि शेयर की कीमत कब गिरती और ऊपर जाती है? आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जब किसी कंपनी का शेयर अधिक से अधिक बेचा जा रहा हो तो उस कंपनी के शेयर की कीमत नीचे गिरने लगती है। अब आप यह सोच रहे होंगे कि अचानक से इतने लोग क्यों शेयर बेचने लगते हैं? जब किसी कंपनी के बिजनेस का प्रदर्शन दिन प्रतिदिन खराब हो रहा होता है और भविष्य में भी उस कंपनी के बिजनेस का प्रदर्शन नीचे जाने की उम्मीद रहती है तो निवेशक उस कंपनी के शेयर को बेचने लगते हैं। इससे शेयर की कीमत काफी तेजी से नीचे जाने लगती है और जो लोग सही समय पर शेयर नहीं बेच पाते हैं उन्हें नुकसान का सामना करना पड़ता है।

अब आपको बता दें कि किसी कंपनी के शेयर की कीमत कब ऊपर जाती है? जब किसी कंपनी के बिजनेस का प्रदर्शन दिन पर दिन बेहतर होता जाता है और भविष्य में भी उस कंपनी के बिजनेस के प्रदर्शन के बेहतर होने की उम्मीद होती है तो कई सारे निवेशक उसमें निवेश करने लगते हैं जिससे शेयर की कीमत में इजाफा होता है।

इस तरह से उस कंपनी के जितने ही शेयर खरीदे जाते हैं उसकी कीमत दिन प्रतिदिन बढ़ती चली जाती है। आपने शेयर मार्केट में अक्सर ऐसा देखा होगा कि कम कीमत वाले शेयर की कीमत अचानक से बेहतर हो जाती है और वह निवेशकों को अचानक से बेहतर मुनाफा देने लगते हैं।

शेयर मार्केट में लॉन्ग टर्म निवेश सही है या शॉर्ट टर्म निवेश? (Share Market Mein Long Term Nivesh Shi Hai Ya Short Term Nivesh?)

यदि आप भविष्य में किसी बड़े आर्थिक उद्देश्य की पूर्ति के लिए शेयर मार्केट में निवेश करना चाहते हैं तो इसके लिए लॉन्ग टर्म निवेश सबसे सही विकल्प है। इसके लिए आपको किसी ऐसे कंपनी के शेयर में निवेश करना चाहिए जो लंबे समय तक टिका रह सके और उसका बिजनेस दिन प्रतिदिन बेहतर भी हो सके।

लेकिन यदि आप कम समय में अधिक मुनाफा प्राप्त करना चाहते हैं और अधिक जोखिम भी लेना चाहते हैं तो इसके लिए शार्ट टर्म निवेश एक सही विकल्प है। लेकिन शॉर्ट टर्म निवेश में नुकसान होने का खतरा अधिक बना रहता है जबकि लॉन्ग टर्म निवेश में नुकसान का खतरा कम होता है। इसीलिए हमारा सुझाव है कि आपको शेयर मार्केट में हमेशा लॉन्ग टर्म निवेश का विकल्प चुनना चाहिए।

निष्कर्ष

दोस्तों हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम शेयर मार्केट क्या है शेयर मार्केट में निवेश कैसे करें और शेयर मार्केट का क्या इतिहास है के बारे में हमने आपको पूरी जानकारी दी है। आशा करता हूं कि आपको इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद शेयर मार्केट के रिलेटेड संपूर्ण जानकारी विस्तार से प्राप्त हो गई होगी। अगर आप भी टेक्नोलॉजी सोशल मीडिया इंटरनेट पैसे कैसे कमाए के रिलेटेड और आर्टिकल पढ़ना चाहते हैं तो आप हमारी इस वेबसाइट को बुकमार्क अवश्य करें धन्यवाद।

 

और पढ़ें:

होम पेज

Leave a Comment