What is Cryptocurrency in Hindi – क्रिप्टोकरेंसी क्या है और उनके प्रकार

आज के समय में बहुत सारे लोगों में क्रिप्टोकरेंसी इन्वेस्टमेंट के लिए मुख्य आकर्षण का केंद्र बना हुआ है, लेकिन आज भी काफी सारे इंसान ऐसे है जिन्होंने क्रिप्टोकरेंसी का नाम तो सुना होता है लेकिन उन्हें क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जानकारी नहीं होती है। आज हम अपने इस लेख में क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जानकारी देने के साथ साथ क्रिप्टोकरेंसी के फायदे और नुक्सान के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

Currency क्या होती है?/ What is currency in Hindi

Cryptocurrency के बारे में जानने से पहले आपको कर्रेंसी के बारे में जानना बेहद जरुरी है, हालाँकि कर्रेंसी के बारे में सभी अच्छी तरह से जानते है। लेकिन आज भी कुछ लोग ऐसे है जिन्हे कर्रेंसी के बारे में जानकारी नहीं है, चलिए अब हम आपको करेंसी के बारे में बताते है दुनिया के प्रत्येक देश की अपनी अलग एक मुद्रा या Currency होती है जिसके माध्यम से आप चीजें खरीद सकते है, जैसे भारत की करेंसी रुपया, अमेरिका की करेंसी डॉलर और कुवैत की करेंसी दीनार है। किसी भी कर्रेंसी को मान्यता उस देश की सरकार देती है, सरकार अपने देश में कार्य करने वाले नागरिको को धन के रूप में करेंसी या मुद्रा प्रदान करती है, इससे आप अपने दैनिक जीवन की जरुरत के हिसाब से चीजें खरीदते है।

देश में कौन सी करेन्सी चलनी है और कौन सी करेंसी को खत्म करना है इसका निर्णय सरकार लेती है, जब सरकार किसी भी करेंसी को खत्म कर देती है तो उस करेंसी की वैल्यू 0 हो जाती है, इसे आप ऐसे भी समझ सकते है की भारत सरकार ने पुराने 1000 और 500 के नोट को बंद कर दिया है और इनकी जगह 500 और 2000 रूपए के नए नोट चलाए है। ऐसी स्थिति में अगर किसी भी इंसान के पास 500 या 1000 के नोट है तो आप उन नोटों से ना तो कुछ खरीद सकते है और ना ही उन्हें बाजार में चला सकते है अर्थात उन नोटों की वैल्यू 0 हो चुकी है।

उम्मीद है की आप अब करेंसी के बारे में समझ गए होंगे, किसी भी देश में चलने वाली करेंसी को फिजिकल करेंसी भी कहा जा सकता है क्योंकि आप उस करेंसी को छू सकते है, देख सकते है, पर्स या घर में भी रख सकते है। लेकिन क्रिप्टोकरेंसी इससे बिलकुल अलग होती है क्योंकि Cryptocurrency को आप ना तो छू सकते है और ना ही अपनी जेब, पर्स और घर में रख सकते है। चलिए अब हम आपको क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

क्रिप्टोकरेंसी क्या है? / What is Cryptocurrency in Hindi

ऊपर आपने करेंसी के बारे में जाना, चलिए अब हम आपको क्रिप्टोकरेंसी के बारे बताते है, असल में Cryptocurrency को आप डिजिटल या Virtual Currency भी कह सकते है। क्योंकि क्रिप्टोकरेंसी का physically अस्तित्व नहीं है इस करेंसी का इस्तेमाल ऑनलाइन ही किया जाता है। डिजिटल करेंसी होने की वजह से क्रिप्टोकरेंसी का लेन देन ऑनलाइन ही होता है, आज के समय में क्रिप्टोकरेंसी काफी ज्यादा पॉपुलर हो गई काफी सारे देशो ने इसे रेगुलेट भी कर दिया है। कुछ देशो में आप क्रिप्टोकरेंसी से ऑनलाइन शॉपिंग या अपनी जरुरत के सामान भी खरीद सकते है, काफी सारी ऐसी ऑनलाइन वेबसाइट मौजूद है जो पेमेंट क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency in hindi) में भी लेती है।

Cryptocurrency काम कैसे करती है?

काफी सारे इंसानो के मन में यह सवाल होता है की क्रिप्टो करेंसी किस टेक्नोलॉजी पर काम करती है या क्रिप्टोकरेंसी कैसे काम करती है? तो हम बता दें की क्रिप्टोकरेंसी Blockchain Technology पर काम करती है, ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी को दुनिया की सबसे ज्यादा सुरक्षित टेक्नोलॉजी मानी जाती है। ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी के माध्यम से होने वाले सभी प्रकार के लेन देन का रिकॉर्ड एक सिस्टम में स्टोर होता है, सभी रिकॉर्ड को अपने पास सुरक्षित रखने के लिए एक शक्तिशाली कंप्यूटर का उपयोग होता है। आज के समय में लगभग सभी क्रिप्टोकरेंसी से सम्बंधित प्लेटफॉर्म  ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी का इस्तेमाल कर रही है, ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी को इस्तेमाल करने की एक वजह यह भी है इस ब्लॉकचैन टेक्नोलॉजी को हैकर हैक नहीं कर सकते है।

चलिए अब हम आपको क्रिप्टोकरेंसी टेक्नोलॉजी को आम भाषा में समझाते है दरसल जब आप किसी भी क्रिप्टो करेंसी का खरीदते, बेचते या ट्रांसफर करते है तो इन सभी को करने से पहले आपको किसी भी ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म पर अपना अकाउंट बनाना होता है। जब आप अकाउंट बना लेते है तो उस प्लेटफॉर्म पर आपकी एक विशेष आईडी जेनरेट होती है, इसी तरह हर एक क्रिप्टोकरेंसी का अलग क्रिप्टो एड्रेस जेनरेट होता है। वो एड्रेस केवल आपके खाते के लिए होता है, आप उस एड्रेस पर किसी से भी क्रिप्टो करेंसी ले सकते है।

सबसे पहली क्रिप्टोकरेंसी कौन सी है

काफी लोगो के मन में यह सवाल होता है की सबसे पहली क्रिप्टो करेंसी कौन सी है तो हम आपको बता दें की सबसे पहली क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन है। बिटकॉइन का निर्माण सातोशी नाकामोतो ने वर्ष 2009 में किया था, जिस समय बिटकॉइन को बनाया गया था तब ना तो किसी को इसके बारे में जानकारी थी और ना ही किसी को इसके इतनी ग्रोथ करने की उम्मीद थी, आज बिटकॉइन की कीमत 20 से 24 लाख के आसपास दिखाई देती है।

Cryptocurrency Meaning in Hindi

क्रिप्टोकरेंसी एक ऐसी करेंसी है जिसे आप ना तो छू सकते है और ना ही आप इसे पर्स या घर में रख सकते है। क्रिप्टो करेंसी ना तो किसी कागज पर या धातु पर छपी होती है लेकिन अगर आप इंटरनेट की दुनिया में जाए तो वहां पर आप क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency in hindi) को खरीद भी सकते है और बेच भी सकते है। क्रिप्टोकरेंसी की खास बात यह है की ना तो इसका कोई मालिक और ना ही यह किसी भी देश की सरकार के अंडर में है, यह Computer Algorithm के द्वारा बनी हुई एक करेंसी है।

Cryptocurrencies में invest कैसे करें?

ऊपर आपने क्रिप्टोकरेंसी के बारे जानकारी प्राप्त की है, अब आपके मन में यह सवाल आ रहा होगा की क्रिप्टोकरेंसी को कैसे खरीद या बेच सकते है ? चलिए अब हम आपको बताते है की आप कैसे क्रिप्टोकरेंसी में इन्वेस्ट कर सकते है, क्रिप्टोकरेंसी की शुरुआत खरीदना बेचना काफी मुश्किल था लेकिन आज के समय में आप काफी आसानी से क्रिप्टोकरेंसी को खरीद और बेच सकते है। आज के समय में बहुत सारी वेबसाइट और एप्प मौजूद है जिन पर आसानी से क्रिप्टोकरेंसी को खरीद या बेच सकते है, लेकिन क्रिप्टोकरेंसी में इन्वेस्ट करने के लिए सही प्लेटफॉर्म का चयन करना बहुत ज्यादा जरुरी है, अगर आप सही प्लेटफॉर्म नहीं चुनते है तो क्रिप्टोकरेंसी खरीदने या बेचने में अधिक फीस देनी पड़ सकती है जिसकी वजह से आपको नुक्सान हो सकता है।

दुनिया के फेमस क्रिप्टोकरेंसी प्लेटफॉर्म की बात करें तो binance और bittrex सबसे ज्यादा पॉपुलर प्लेटफॉर्म है, भारत में Cryptocurrency के लिए सबसे फेमस प्लेटफॉर्म है “Wazirx“ और CoinDCX। wazirx प्लेटफॉर्म को भारत में सबसे ज्यादा पसंद किया जाता है, इस प्लेटफॉर्म पर आप आसानी से अपने बैंक अकाउंट से क्रिप्टोकरेंसी खरीद सकते है और बेचने पर भी आप अमाउंट सीधे अपने खाते में ले सकते है, wazirx का वेरिफिकेशन प्रोसेस भी बहुत फ़ास्ट और आसान है।

Cryptocurrency के फायदे

क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जानने के बाद अब हम आपको क्रिप्टोकरेंसी के फायदों के बारे में जानकारी दे रहे है, क्रिप्टोकरेंसी के फायदे जानने के बाद आपको क्रिप्टो करेंसी में इन्वेस्ट करने में आसानी हो जाती है। क्रिप्टोकरेंसी के फायदे निम्न प्रकार है।

1 – क्रिप्टोकरेंसी में होने वाली सभी ट्रांसेक्शन ब्लॉकचैन टेक्नलॉजी पर आधारित होने की वजह से इसमें fraud होने की संभावना काफी कम होती है।

2 – क्रिप्टोकरेंसी की खरीदने और बेचने की ट्रांसेक्शन नार्मल ऑनलाइन ट्रांसेक्शन के मुकाबले काफी ज्यादा secure होती है।

3 – अगर आप सही समय पर क्रिप्टोकरेंसी खरीदें और बेचें तो आपको इसमें मुनाफा काफी ज्यादा हो सकता है।

4 – क्रिप्टोकरेंसी में अन्य ट्रेडिंग के मुकाबले काफी कम ट्रांसेक्शन चार्जेज लगते है जिससे आपको मुनाफा और ज्यादा होता हुआ दिखाई देता है।

Cryptocurrency के नुकसान

जिस तरह से क्रिप्टोकरेंसी के फायदे है उसी तरह से क्रिप्टो करेंसी के नुक्सान भी है, चलिए अब हम आपको क्रिप्टोकरेंसी के नुक्सान के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है

1 – क्रिप्टोकरेंसी की ट्रांसस्क्शन में सबसे बड़ा नुक्सान यह है की एक बार ट्रांसस्क्शन हो जाने के बाद आप उसे रिवर्स नहीं कर सकते है, अगर आपसे गलती से कोई ट्रांसेक्शन हो गई है तो उस अमाउंट की वापसी नहीं हो सकती है।

2 – आपने जिस भी वेबसाइट पर अपना अकाउंट बना रखा है, और आप उस अकाउंट की डिटेल भूल गए तो आपको अकाउंट रिकवर करने में काफी परेशानियो का सामना करना पड़ सकता है।

3 – क्रिप्टोकरेंसी में उतार चढाव कब कितना आ जाएं इसके बारे में कुछ कहा नहीं जा सकता है।

4 – क्रिप्टोकरेंसी मार्किट में आए दिन नई नई करेंसी (cryptocurrency in hindi) लांच हो रही है और बंद हो रही है, ऐसे में अगर आपने किसी करेंसी में पैसा लगा दिया है और किसी भी कारणवश वो बंद हो जाए तो आपको नुक्सान हो सकता है।

5 – भारतीय सरकार भविष्य में क्रिप्टोकरेंसी को लेकर कोई नियम ट्रांसेक्शन को लेकर बनाती है तो ऐसे में भी आपको नुक्सान हो सकता है।

क्रिप्टोकरेंसी का इतिहास (History of Cryptocurrency)

काफी सारे इंसान के मन में यह सवाल होता है की क्रिप्टो करेंसी (cryptocurrency in hindi) की शुरुआत कब हुई, इतिहास की सबसे पहली Cryptocurrency को सातोशी नकामोतो द्वारा लॉन्च की गयी थी। हालाँकि अभी तक बिटकॉइन के निर्माता की सटीक जानकारी किसी के पास मौजूद नहीं है और कुछ लोगो का मानना है की बिटकॉइन का निर्माण किसी इंसान ने नहीं की है बल्कि बिटकॉइन का निर्माण Satoshi Nakamoto नामक आर्गेनाइजेशन ने किया है। सच यह है की Bitcoin के Founder के बारे में सही और सटीक जानकारी किसी के पास भी उपलब्ध नहीं है, शुरुआत में क्रिप्टोकरेंसी को बहुत कम लोग जानते थे लेकिन जैसे जैसे इसकी कीमत बढ़ती गई वैसे वैसे यह लोगो के बीच फेमे हुई है।

भारत में Cryptocurrency Legal है या नहीं?

क्रिप्टोकरेंसी लीगल है या नहीं यह एक ऐसा सवाल है जो काफी सारे लोगो के मन में होता है। क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency in hindi) की बात करें तो कुछ देशो ने इसे लीगल कर दिया है लेकिन कुछ देशो ने इसे इलीगल माना है। अब यह निर्भर करता है की आप किस देश में रहते है अगर आप भारत में रहते है तो आपके लिए ख़ुशी की खबर यह है की फिलहाल भारतीय सरकार ने क्रिप्टोकरेंसी को लीगल माना है और अभी किसी भी तरह का प्रतिबन्ध नहीं लगाया है। भारत में आप आसानी से Cryptocurrency को खरीद और बेच सकते है बस आपको सरकार के द्वारा लगाए गए टैक्स को देना है।

Cryptocurrencies के प्रकार

ऊपर आपने आपने क्रिप्टोकरेंसी के बारे में जाना, लेकिन कया आप जानते है की क्रिप्टोकरेंसी अलग प्रकार की होती है, सबसे पहली क्रिप्टोकरेंसी बिटकॉइन है, बिटकॉइन के बाद बहुत सारी क्रिप्टोकरेंसी लांच हुई है, चलिए अब हम आपको कुछ पॉपुलर क्रिप्टोकरेंसी (cryptocurrency in hindi) के बारे में जानकारी उपलब्ध करा रहे है।

1 – Bitcoin (BTC)

क्रिप्टोकरेंसी की दुनिया में पहली और सबसे ज्यादा पॉपुलर करेंसी बिटकॉइन ही है, बिटकॉइन को Satoshi Nakamoto ने वर्ष 2009 में बनाया था। आज के समय में काफी सारे देशो ने इसे लीगल कर दिया है और बिटकॉइन से आप ऑनलाइन शॉपिंग भी कर सकते है, कुछ कंपनियाँ अपनी सर्विस का चार्ज का पेमेंट भी बिटकॉइन में ले रहे है। शुरुआत में बिटकॉइन की कीमत बहुत ज्यादा कम थी लेकिन आज बिटकॉइन की कीमत लाखो में है, बिटकॉइन की कीमत बहुत ज्यादा बढ़ने की वजह से यह करेंसी बहुत ज्यादा पॉपुलर हुई है।

2 – Ethereum (ETH)

बिटकॉइन के बाद क्रिप्टोकरेंसी की दुनिया की दूसरी सबसे बड़ी करेंसी का नाम है Ethereum। Ethereum करेंसी के फाउंडर है विटालिक बूटेरिन, बिटकॉइन के बाद सबसे ज्यादा पसंद की जाने वाली क्रिप्टोकरेंसी Ethereum है। जिसकी कीमत में काफी ज्यादा उछाल देखने को मिला है, शुरुआत में एथेरियम एक करेंसी थी लेकिन हाल ही में एथेरियम को दो टुकड़ो में बांटा गया है जिनके नाम है Etherem (ETH) और Etheriem Classic (ETC)। अगर आप एथेरियम को खरीदना चाहते है तो आप किसी भी पॉपुलर वेबसाइट पर जाकर खरीद सकते है।

3 – Litecoin (LTC)

चलिए अब हम आपको क्रिप्टोकरेंसी की एक और करेंसी के बारे में बता रहे है जिसका नाम है लाइटकॉइन। Litecoin को वर्ष 2011 में Charles Lee के द्वारा एक open source software की मदद से बनाया गया था, भविष्य में लाइटकॉइन से काफी ज्यादा उमीदें है क्योंकि लाइटकॉइन के अधिकतर फीचर्स बिटकॉइन के जैसे है। लाइटकॉइन की सबसे बढ़ी खासियत यह है की Litecoin की block generation की टाइमिंग की बात करें तो यह बिटकॉइन से चार गुना कम है, टाइमिंग कम होने की वजह से लाइटकॉइन में ट्रांसक्शन काफी कम समय में हो जाती है।

4 – Binance Coin (BNB)

अगर आप क्रिप्टो करेंसी में निवेश करना चाहते है तो आपने क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म Binance के बारे में जरूर सुना होगा क्योंकि क्रिप्टोकरेंसी ट्रेडिंग के सबसे बड़े और पॉपुलर प्लेटफॉर्म में Binance का नाम आता है। Binance Coin को लॉन्च वर्ष 2017 में Binance क्रिप्टो एक्सचेंज ने किया है और आज के समय में वॉल्यूम के हिसाब से दुनिया की चौथी सबसे बड़ी क्रिप्टो करेंसी बन गई है। Binance कॉइन को लॉन्च Binance ट्रेडिंग प्लेटफॉर्म ने किया है ऐसे में इस कॉइन के ग्रोथ करने की संभावना काफी ज्यादा नजर आ रही है और आने वाले समय में इस कॉइन की कीमत काफी ज्यादा बढ़ती हुई नजर आने वाली है।

5 –  Dogecoin (Doge)

आज के समय में शायद ही कोई इंसान हो जिसने डोजकॉइन का नाम ना सुना हो, यह एक ऐसी क्रिप्टोकरेंसी है जिसने काफी कम समय में काफी ज्यादा ग्रोथ की है। Dogecoin का निर्माण एक मजाक से शुरू हुआ था लेकिन धीरे धीरे इस करेंसी ने जिस तरह से ग्रो किया है, उससे आज यह काफी फेमस हो गई है और आने वाले समय में इस करेंसी से भी काफी ज्यादा उम्मीद है। आज के समय में Dogecoin की मार्किट वैल्यू $199 मिलियन से भी ज्यादा हो चुकी है।

निष्कर्ष

हम आशा करते है की आपको हमारा लेख पसंद आया होगा, क्रिप्टोकरेंसी को शुरुआत में बेहद कम लोग जानते थे लेकिन इसके प्राइस जब से बड़े है तब से सभी का ध्यान इस और गया है। वैसे तो क्रिप्टोकरेंसी में इन्वेस्ट करना बेहतर नजर आ रहा है लेकिन हम आपको सलाह देंगे की क्रिप्टोकरेंसी में बहुत सोच समझ कर इन्वेस्ट करें। कोशिश करें की आप सारी रकम एक क्रिप्टोकरेंसी में लगाकर अलग अलग क्रिप्टोकरेंसी में लगाए और क्रिप्टोकरेंसी में इन्वेस्ट करने से पहले किसी एक्सपर्ट्स से सलाह जरूर लें।

 

और पढ़ें:

होम पेज

मोबाइल से पैसे कमाने वाला एप्प

पैसा कमाने वाला गेम

घर बैठे मोबाइल से पैसे कमाने के आसान तरीके

डिजिटल मार्केटिंग क्या होता है?

Online Paise Kaise Kamaye

Leave a Comment