IPS क्या होता है? IPS Officer Kaise Bane? योग्यता | परीक्षा पैटर्न

IPS kaise bane | आईपीएस बनने के लिए योग्यता | IPS officer kaise bane

देश के कई युवाओं का IPS बनने का सपना होता है। बहुत सारे लोग अपने शरीर पर खाकी वर्दी देखना चाहते हैं और पुलिस विभाग में सर्विस देना चाहते हैं। यदि आप पुलिस विभाग में बड़ा अधिकारी बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको IPS बनना पड़ता है। जिले का एसपी (पुलिस कप्तान) IPS अधिकारी ही होता है। यदि आप भी IPS अधिकारी बनना चाहते हैं तो इस आर्टिकल में हम आपको IPS क्या है? IPS कैसे बनें? IPS का फुल फॉर्म, IPS बनने के लिए योग्यता और IPS ऑफिसर कैसे बनें?, इत्यादि के बारे में पूरी जानकारी देंगे।

Contents

IPS क्या होता है?

पुलिस विभाग के जितने भी सर्वोच्च अधिकारी होते हैं, वे लगभग सभी IPS रैंक के ही अधिकारी होते हैं। आपके जिले में पुलिस विभाग का मुखिया पुलिस अधीक्षक (SP – Superintendent of police) होता है, जो एक IPS अधिकारी होता है। ऐसे जिले जिसमें कोई महानगर या बड़ा शहर शामिल होता है उसमें कई SP होते हैं, इनमें से सबसे बड़े एसपी को वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) कहा जाता है। आपको बता दें कि देश के पुलिस एवं कई रक्षा विभागों में IPS अधिकारी ही सर्वोच्च पद पर होता है। इसमें बॉर्डर पुलिस, काउंटर टेररिज्म, अपराध रोकथाम, सीबीआई, रॉ, आईबी, सीपीएफ, BSF, ITBP, CRPF, NSG, CISF, सीपीओ, इत्यादि विभाग शामिल हैं।

IPS का फुल फॉर्म क्या है?

IPS का फुल फॉर्म इंडियन पुलिस सर्विस होता है जिसे हिंदी में भारतीय पुलिस सेवा कहा जाता है।

IPS की शुरुआत कब हुई थी?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि 1948 से पहले IPS को सिर्फ इंडियन (इम्पीरियल) पुलिस कहा जाता था। लेकिन इसी साल इसका नाम बदलकर इंडियन पुलिस सर्विस (IPS) कर दिया गया। इसके इतिहास के बारे में संक्षिप्त में चर्चा करें तो 1920 के बाद से भारतीयों को इंडियन इंपीरियल पुलिस की प्रतियोगी परीक्षा में बैठने की अनुमति दी गई। उस समय यह प्रतियोगी परीक्षा भारत और लंदन में एक साथ कराई जाती थी।

1907 से फोर्स के अधिकारियों को निर्देश दिया गया था कि वे अपने वर्दी पर “I.P” लिखा हुआ पहनें, ताकि वे उन अधिकारियों से अलग दिख सकें, जो राज्य सचिव द्वारा आयोजित प्रतियोगी परीक्षा में भर्ती नहीं हुए थे। इसके बाद 1917 में इस्लिंगटन आयोग की एक रिपोर्ट में पहली बार भारतीय पुलिस सेवा (IPS) लेबल का उल्लेख किया गया था। 1932 में, नाम बदलकर सिर्फ भारतीय पुलिस कर दिया गया। इसके बाद 1948 यानी स्वतंत्र भारत में इसका नाम बदलकर इंडियन पुलिस सर्विस (IPS) कर दिया गया, जो आज तक चल रहा है।

IPS बनने के लिए क्या योग्यताएं/दक्षताएँ होनी चाहिए?

यदि आप IPS अधिकारी बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको UPSC द्वारा बनाए गए क्राइटेरिया में आना जरूरी है। इसके बाद आपको IPS की परीक्षा यानी सिविल सर्विसेज एक्जाम देना होगा। IPS बनने के लिए क्या योग्यताएं होनी चाहिए, इसके बारे में नीचे विस्तार से बताया गया है।

  • उम्मीदवार का भारतीय नागरिक होना जरूरी है
  • उम्मीदवार की उम्र कम से कम 21 वर्ष होना आवश्यक है। हालांकि अलग-अलग कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए और शारीरिक अपंगता के अनुसार अधिकतम उम्र सीमा में बदलाव हो सकते हैं।
  • IPS की परीक्षा देने के लिए उम्मीदवार का कम से कम स्नातक की परीक्षा पास होना जरूरी है।
  • जनरल कैटेगरी या आर्थिक रूप से पिछड़े वर्ग का उम्मीदवार अधिकतम 6 बार IPS की परीक्षा दे सकता है। हालांकि ओबीसी और एससी/एसटी उम्मीदवारों इससे अधिक बार IPS की परीक्षा में बैठ सकते हैं।
  • ऐसे व्यक्ति जो पहले से ही आईएएस और आई एफ एस अधिकारी के रूप में काम कर रहे हैं वह फिर से UPSC की परीक्षा नहीं दे सकते हैं।
  • आपको बता दें कि IPS बनने के लिए शारीरिक मानक भी निर्धारित किए गए हैं। जनरल/EWS/ SC/ OBC पुरुष उम्मीदवारों की शारीरिक ऊंचाई कम से कम 165 सेमी, महिलाओं के लिए 150 सेमी और ST पुरूष उम्मीदवारों की ऊँचाई कम से कम 160 सेमी, महिलाओं के लिए 145 सेमी होना चाहिए। पुरूष उम्मीदवारों छाती कम से कम 84 सेमी और फुलाने पर 5 सेमी बढ़ना चाहिए, महिलाओं के की छाती 79 सेमी और फुलाने पर 5 सेमी बढ़ना चाहिए। अच्छी दृष्टि के लिए 6/6 या 6/9 Distant Vision जरूरी है।

IPS Officer कैसे बनें? (IPS Officer Kaise Bane?)

1. 12वीं पास करें:

IPS की परीक्षा देने के लिए सबसे पहले आपको 12वीं की परीक्षा पास होना जरूरी है। आप विज्ञान वर्ग, वाणिज्य वर्ग या कला वर्ग किसी से बारहवीं की परीक्षा पास कर सकते हैं। इसके अलावा 12वीं स्तर की परीक्षाएं भी पास करके आप ग्रेजुएशन की पढ़ाई शुरू कर सकते हैं।

2. ग्रेजुएशन की परीक्षा पास करें:

यदि आप IPS अधिकारी बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको UPSC द्वारा आयोजित किए जाने वाले Civil Services Exam (CSE) को पास करना होगा। इसके लिए आपको ग्रेजुएशन के परीक्षा पास करना जरूरी है। ग्रेजुएशन की परीक्षा पास करने के बाद ही आप UPSC की Civil Services Exam (CSE) में बैठ सकते हैं और IPS बनने का सपना पूरा कर सकते हैं।

3. UPSC (CSE) के लिए आवेदन करें:

ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद आपको UPSC (CSE) के लिए आवेदन करना पड़ता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि UPSC हर साल Civil Services Exam (CSE) का आयोजन कराती है। IPS के लिए अलग से कोई परीक्षा नहीं होती है। आपको आपके रैंक के अनुसार ही IPS का पद दिया जाता है। हालांकि यदि आप UPSC की परीक्षा में टॉप रैंक पर आते हैं तो आप खुद से भी IPS चुन सकते हैं।

4. UPSC (CSE) Prelims परीक्षा पास करें

आवेदन फॉर्म भरने के पश्चात निर्धारित तिथि पर UPSC (CSE) Prelims परीक्षा आयोजित कराई जाती है। यदि आप इस परीक्षा में निर्धारित कट ऑफ अंक से अधिक अंक लेकर आते हैं तो आपको मुख्य परीक्षा में बैठने का अवसर मिलता है। इसमें 2 पेपर होते हैं, जिसमें पहला पेपर GS I होता है, जो 200 अंकों का होता है। इसके अलावा दूसरा पेपर GS II (CSAT) होता है, जो 200 अंकों का होता है। आपको बता दें कि CSAT सिर्फ क्वालिफाइंग होता है। सिर्फ पहले पेपर के अंक के आधार पर कट ऑफ बनाया जाता है। लेकिन आपको दूसरे पेपर में क्वालीफाई करना जरूरी है, अन्यथा पहला पेपर चेक नहीं किया जाता।

5. Mains परीक्षा पास करें:

UPSC (CSE) Prelims परीक्षा पास होने के बाद आपको Mains की परीक्षा देनी पड़ती है। इस परीक्षा को पास करने के बाद आप इंटरव्यू के लिए चयनित होते हैं। इसमें कुल 9 पेपर होते हैं, जो कुल मिलाकर 1750 अंकों के होते हैं।

6. इंटरव्यू पास करें:

Mains परीक्षा पास करने के बाद आपको 275 अंकों का इंटरव्यू देना होता है। इंटरव्यू पूरा हो जाने के बाद मेंस और इंटरव्यू के अंक मिलाकर कट ऑफ बनाया जाता है। इस कट ऑफ के अनुसार रैंक निर्धारित किए जाते हैं। सबसे टॉप रैंक पाने वाले लोगों को आईएफएस, इसके बाद फिर आईएएस और फिर IPS रैंक दिया जाता है। हालांकि टॉप रैंक पाने वाला उम्मीदवार अपने लिए कोई भी जॉब रैंक चुन सकता है।

7. ट्रेनिंग पूरी करें:

यदि आप IPS के लिए चयनित हो चुके हैं तो इसके बाद आपको लगभग 2 सालों का ट्रेनिंग पूरा करना होता है। ट्रेनिंग की प्रक्रिया के बारे में हमने आपको नीचे विस्तार से समझाया है।

IPS की ट्रेनिंग कैसे होती है?

यदि आपने UPSC की परीक्षा पास कर ली है और IPS के लिए चयनित हुए हैं तो आपको 2 साल की ट्रेनिंग करना होगा। यह एक प्रकार का फाउंडेशन कोर्स होता है, जिसका पहला भाग 3 महीने के लिए होता है। ये शुरुआती 3 महीने सभी प्रकार के UPSC Civil Services Exam (CSE) में चयनित उम्मीदवारों के लिए समान होता है। इसके लिए लाल बहादुर शास्त्री राष्ट्रीय प्रशासन अकादमी (LBSNAA), मसूरी में फाउंडेशन कोर्स पूरा करने के बाद सभी IPS ट्रेनी सरदार वल्लभभाई पटेल राष्ट्रीय पुलिस अकादमी (SVPNPA), हैदराबाद जाते हैं।

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि IPS अधिकारियों के लिए जिला प्रशिक्षण के अलावा कई प्रकार के इनडोर और आउटडोर ट्रेनिंग कराए जाते हैं और सभी प्रकार के ट्रेनिंग के लिए उन्हें अंक भी दिए जाते हैं। ट्रेनिंग के दौरान मिलने वाले अंक के अनुसार ही उन्हें अलग-अलग पदों पर नियुक्ति दी जाती है। बहुत सारे लोग यह सोचते हैं कि IPS की परीक्षा पास करने के तुरंत बाद ही उन्हें पुलिस विभाग में बड़े पद पर बैठा दिया जाता है जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं होता है। IPS की परीक्षा पास करने के बाद उन्हें ट्रेनिंग देना होता है, जहां उन्हें उनकी ट्रेनिंग के अनुसार अंक दिए जाते हैं और उसके बाद ही नियुक्ति दी जाती है।

UPSC (CSE) की परीक्षा कितने चरणों में होती है?

UPSC (CSE) की परीक्षा 3 चरणों में होती है:

  • प्रारंभिक परीक्षा (Prelims)
  • मुख्य परीक्षा (Mains)
  • साक्षात्कार (Interview)

UPSC (CSE) Pre परीक्षा का पैटर्न क्या है?

UPSC (CSE) Pre परीक्षा का पैटर्न निम्नलिखित है:

सामान्य अध्ययन I परीक्षा पैटर्न:

कुल प्रश्न- 100

कुल अंक- 200

अधिकतम समय सीमा- 2 घंटे

नकारात्मक अंक- एक तिहाई

सामान्य अध्ययन II (CSAT- Civil Services Aptitude Test) परीक्षा पैटर्न:

कुल प्रश्न- 100

कुल अंक- 200

प्रश्न पत्र का प्रकार- वैकल्पिक

अधिकतम समय सीमा- 2 घंटे

नकारात्मक अंक- एक तिहाई

UPSC (CSE) Mains परीक्षा पैटर्न क्या है?

UPSC (CSE) Prelims परीक्षा में सफल होने वाले उम्मीदवार ही Mains की परीक्षा देते हैं। UPSC (CSE) Mains परीक्षा पैटर्न के बारे में नीचे बताया गया है।

  • पेपर A: अनिवार्य भारतीय भाषा- 300 अंक
  • पेपर B: अंग्रेजी- 300
  • पेपर I: निबंध- 250
  • पेपर II: सामान्य अध्ययन I- 250
  • पेपर III: सामान्य अध्ययन II- 250
  • पेपर IV: सामान्य अध्ययन III- 250
  • पेपर V: सामान्य अध्ययन IV- 250
  • पेपर VI: वैकल्पिक विषय I- 250
  • पेपर VII: वैकल्पिक विषय II- 250

UPSC (CSE) में Interview कितने अंकों का होता है?

UPSC (CSE) में Interview 275 अंकों का होता है।

UPSC (CSE) में Final Cut-off किस आधार पर तैयार किया जाता है?

UPSC (CSE) में Final Cut-off Mains परीक्षा और इंटरव्यू के नंबर जोड़कर किया जाता है। Mains की परीक्षा 1750 अंकों और इंटरव्यू की परीक्षा 275 अंकों की होती हैंम इसका मतलब यह है कि 2025 पूर्णांक के अनुसार ही आपको अंक दिए जाते हैं और उसी के अनुसार Final Cut-off तैयार किया जाता है।

वर्तमान में IPS कैडर का आवंटन किस प्रकार किया जाता है?

कैडर आवंटन नीति 2008 के अनुसार IPS परीक्षा के उम्मीदवारों द्वारा ही वरीयता सूची निर्धारित की जाती थी। हालांकि, अब IPS अधिकारियों के लिए कैडर आवंटन नीति में बदलाव किया गया है। IPS परीक्षा (Civil Services Exam (CSE)) पास हुए उम्मीदवारों के लिए कैडर आवंटन उनकी रैंक, रिक्तियों की उपलब्धता और उनकी प्राथमिकताओं के आधार पर किया जाता है। लेकिन राज्य पुलिस सेवाओं (PPS) से पदोन्नत/भर्ती किए गए अधिकारी अपने-अपने राज्य में ही रहते हैं।

UPSC CSE 2017 के बाद से अखिल भारतीय सेवाओं (All India Services) के लिए नई कैडर नीति लागू की गई है। इसका उद्देश्य प्रशासन की दक्षता को बढ़ाना, राष्ट्रीय एकजुटता को बढ़ाना और रिक्तियों के अनुसार नियुक्ति करना है। वर्तमान समय में IPS कैडरों को 5 जोन में बांटा गया है। पहले जोन में 7 कैडर, दूसरे जोन में 4 कैडर, तीसरे जोन में 4 कैडर, चौथे जोन में 6 कैडर और 5वें जोन में 5 कैडर हैं।

IPS अधिकारी का मासिक वेतन कितना होता है?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि भारत में 7वें वेतन आयोग के लागू होने के बाद IPS अधिकारियों का शुरुआती मासिक वेतन ₹56,100 होता है। इसके अलावा उन्हें DA, HRA, इत्यादि अलग से मिलता है। इसके अलावा पुलिस महानिदेशक (DGP) को ₹2,25,000, अपर पुलिस महानिदेशक (ADGP) को ₹2,05,400, पुलिस महानिरीक्षक (IG) को ₹1,44,200, पुलिस उप महानिरीक्षक (DIG) को ₹1,31,100, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक (SSP) को ₹78,800, अपर पुलिस अधीक्षक (ASP) ₹67,700, पुलिस उपाधीक्षक (DSP) को ₹56,100 मासिक वेतन के रूप में मिलते हैं। इसके अलावा इन पुलिस अधिकारियों को कई प्रकार के भत्ते भी अलग से दिए जाते हैं।

निष्कर्ष:

इस आर्टिकल में हमने आपको IPS परीक्षा के लिए जरूरी योग्यताएं, IPS कैसे बनें, IPS कैडर आवंटन, IPS का मासिक वेतन, IPS परीक्षा की तैयारी, IPS परीक्षा पैटर्न, इत्यादि संबंधित सभी प्रकार की जानकारी उपलब्ध कराई है। उम्मीद है आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी पसंद आई होगी। इस जानकारी का लाभ उठाकर आप भी भविष्य में IPS बनने का सपना पूरा कर सकेंगे। कि आपको यह जानकारी पसंद आई हो तो इसे अपने दोस्तों एवं करीबियों के साथ शेयर जरूर करें। इसी तरह की बेहतरीन जानकारियों के लिए हमारे वेबसाइट को बुकमार्क अवश्य कर लें।

 

और पढ़ें:

आईएएस ऑफिसर कैसे बने

CA Kaise Bane

होम पेज

Leave a Comment