IAS Kya Hota Hai? आईएएस ऑफिसर कैसे बने? योग्यता | परीक्षा पैटर्न

IAS kaise bane | आईएएस कैसे बने | ias kya hota hai | ias officer kaise bane | ias ke liye konsi degree chahiye | upsc ke liye kya qualification chahiye

आज के समय में बहुत सारे युवाओं का IAS बनने का सपना होता है। IAS को देश की सबसे प्रतिष्ठित नौकरी मानी जाती है। देश के सर्वोच्च प्रशासनिक पदों पर आसीन लगभग सभी अधिकारी IAS रैंक के ही होते हैं। यदि आप भी IAS बनने का सपना संजोए हुए हैं तो आपके लिए यह आर्टिकल बहुत ही काम आ सकता है। क्योंकि इस आर्टिकल में हम आपको IAS का Full Form, IAS कैसे बनें? IAS Kaise Bane, IAS Kya Hota Hai, IAS Officer Kaise Bane, IAS Ke Liye Konsi Degree Chahiye, UPSC Ke Liye Kya Qualification Chahiye, इत्यादि के बारे में सभी प्रकार की जरूरी जानकारी प्रदान करेंगे।

Contents

IAS का Full Form क्या है?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि IAS का Full Form Indian Administrative Service होता है, जिसे हिंदी में भारतीय प्रशासनिक सेवा भी कहा जाता है। यदि आप UPSC पास करने के बाद IAS रैंक में चयनित होते हैं तो आपको IAS ऑफिसर कहा जाता है।

IAS क्या होता है?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि IAS देश की सबसे बड़ी प्रशासनिक नौकरी मानी जाती है। देश के सर्वोच्च प्रशासनिक पदों पर आसीन लगभग अधिकारी IAS ही होते हैं। IAS के बाद आईपीएस को देश की बड़ी नौकरी माना जाता है। कई लोग IAS रैंक के लिए क्वालीफाई होने के बावजूद भी आईपीएस की नौकरी चुनते हैं और पुलिस विभाग में अपनी सेवा देते हैं।

IAS बनने के लिए न्यूनतम और अधिकतम कितनी उम्र होनी चाहिए?

IAS बनने के लिए आपको UPSC (CSE) की परीक्षा देनी पड़ती है। इस परीक्षा को देने के लिए आपकी न्यूनतम उम्र 21 वर्ष होनी चाहिए। आपको बता दें कि जनरल, ओबीसी और SC/ST सभी कैटेगरी के उम्मीदवारों की न्यूनतम उम्र 21 वर्ष होना आवश्यक है, लेकिन अलग-अलग कैटेगरी के लिए अधिकतम उम्र की सीमा अलग-अलग निर्धारित की गई है। जैसे जनरल कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए 21 वर्ष से अधिकतम 30 वर्ष, ओबीसी कैटेगरी के उम्मीदवारों के लिए 21 वर्ष से अधिकतम 33 वर्ष और SC/ST उम्मीदवारों के लिए न्यूनतम 21 वर्ष से अधिकतम 35 वर्ष की आयु सीमा निर्धारित की गई है।

IAS के लिए कौन सी डिग्री चाहिए? (IAS Ke Liye Konsi Degree Chahiye?)

IAS अधिकारी बनने के लिए किसी विशेष डिग्री की आवश्यकता नहीं होती है। इसके लिए बस आपको UPSC द्वारा निर्धारित न्यूनतम क्वालिफिकेशन यानी ग्रेजुएशन की डिग्री होनी चाहिए। यदि आपने ग्रेजुएशन की परीक्षा पूरी कर ली है और आपकी उम्र 21 वर्ष से अधिक है तो आप IAS बन सकते हैं। इसके लिए बस आपको UPSC द्वारा आयोजित की गई परीक्षा को क्वालीफाई करना होता है और ट्रेनिंग पूरी करनी होती है। बहुत सारे लोग यह सोचते हैं कि IAS बनने के लिए किसी विशेष डिग्री की आवश्यकता होती है जबकि ऐसा बिल्कुल नहीं है। आप किसी भी स्ट्रीम से ग्रेजुएशन की परीक्षा पास करने के बाद IAS बनने के पात्र हो सकते हैं।

UPSC के लिए क्या क्वालिफिकेशन चाहिए? (UPSC Ke Liye Kya Qualification Chahiye?)

IAS बनने का सपना रखने वाले लोगों के लिए यह जानना बहुत ही जरूरी है कि UPSC के लिए क्या क्वालिफिकेशन चाहिए? आपकी जानकारी के लिए बता दें कि यदि आप UPSC की परीक्षा देना चाहते हैं और IAS बनना चाहते हैं तो इसके लिए सबसे पहले आपको ग्रेजुएशन पूरा करना होगा। ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद यदि आप की उम्र 21 वर्ष से अधिक है तो आप UPSC द्वारा आयोजित कराए जाने वाले सिविल सर्विसेज एग्जाम के लिए आवेदन कर सकते हैं और प्रारंभिक परीक्षा, मुख्य परीक्षा एवं इंटरव्यू देकर UPSC की परीक्षा पास कर सकते हैं। UPSC की परीक्षा पास करने के बाद 1 साल की ट्रेनिंग करनी होती है जिसके बाद आपको आपके रैंक के हिसाब से पद दिए जाते हैं।

IAS कैसे बनें? (IAS Kaise Bane?)

यदि आप IAS अधिकारी बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको नीचे बताए गए 7 स्टेप्स फॉलो करने होंगे। इन ही स्टेप्स से गुजर कर आप भारत की सबसे सर्वोच्च प्रशासनिक नौकरी प्राप्त कर सकते हैं और एक IAS अधिकारी के रूप में देश की सेवा कर सकते हैं।

  1. इंटरमीडिएट की परीक्षा पास करें:

यदि आप भविष्य में IAS अधिकारी बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको किसी भी स्ट्रीम से इंटरमीडिएट की परीक्षा पास करनी होगी। आप इंटरमीडिएट में विज्ञान वर्ग, वाणिज्य वर्ग या कला वर्ग किसी भी वर्ग से इंटरमीडिएट की पढ़ाई कर सकते हैं और उसमें उत्तीर्ण हो सकते हैं। इसके अलावा आप इंटरमीडिएट स्तर की अन्य परीक्षाएं जैसे पॉलिटेक्निक, आईईआरटी, इत्यादि की भी परीक्षा पास कर सकते हैं।

  1. स्नातक की पढ़ाई पूरी करें:

इंटरमीडिएट की पढ़ाई करने के बाद आपको स्नातक स्तर की पढ़ाई करनी होगी और उसमें पास होना होगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि IAS बनने के लिए UPSC द्वारा आयोजित सिविल सर्विसेज एग्जाम देना पड़ता है। इस परीक्षा में बैठने के लिए आपके पास कम से कम स्नातक की डिग्री अवश्य होनी चाहिए। आप किसी भी स्ट्रीम से स्नातक की डिग्री प्राप्त कर सकते हैं और UPSC द्वारा आयोजित सिविल सर्विसेज एग्जाम में बैठ सकते हैं। सिविल सर्विसेज एग्जाम में बैठने के लिए न्यूनतम अंक निर्धारित नहीं है। आपके पास बस स्नातक पास की डिग्री होनी चाहिए।

  1. UPSC (CSE) के लिए आवेदन करें:

यदि आपने स्नातक स्तर की डिग्री हासिल कर ली है तो इसके बाद आपको UPSC (CSE) के लिए आवेदन करना होगा। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि UPSC प्रतिवर्ष अलग-अलग प्रकार की कई परीक्षाएं आयोजित कर आती है। लेकिन यदि आप IAS अधिकारी बनना चाहते हैं तो इसके लिए आपको UPSC सिविल सर्विसेज एग्जाम देना पड़ेगा। इस फॉर्म का आवेदन करने के बाद ही आप इस परीक्षा में बैठ सकते हैं।

  1. UPSC (CSE) की प्रारंभिक परीक्षा पास करें

जब आप UPSC (CSE) का आवेदन फार्म भर देते हैं तो एक निर्धारित तिथि पर प्रारंभिक परीक्षा आयोजित कराई जाती है। यदि आप इस परीक्षा में बैठते हैं और इसमें आपका कट ऑफ से अधिक अंक आ जाता है तो आप अगली परीक्षा के लिए क्वालीफाई हो जाएंगे। आपको बता दें कि प्रारंभिक परीक्षा में 2 पेपर होते हैं- GS I और GS II (CSAT). ये दोनों पेपर 200-200 अंक के होते हैं। दोनों ही परीक्षा में वैकल्पिक प्रश्न आते हैं। इसमें CSAT की परीक्षा क्वालीफाइंग होती है।

  1. मुख्य परीक्षा पास करें

जब आप प्रारंभिक परीक्षा में पास होकर मुख्य परीक्षा के लिए क्वालीफाई होते हैं तो इसके बाद आपको मुख्य परीक्षा में 9 पेपर देने होते हैं। यह सभी पेपर सब्जेक्टिव टाइप होते हैं यानी आपको सभी प्रश्नों के उत्तर खुद से लिखने होते हैं। यदि आप इस परीक्षा को पास कर लेते हैं और निर्धारित कट ऑफ अंक से अधिक नंबर लेकर आते हैं तो इसके बाद आपको इंटरव्यू के लिए चयनित किया जाता है। अक्सर बहुत सारे छात्र मुख्य परीक्षा में अनुत्तीर्ण हो जाते हैं इसीलिए आपको मुख्य परीक्षा के लिए जमकर मेहनत करनी होती है।

  1. इंटरव्यू पास करें:

जब आप मुख्य परीक्षा पास कर जाते हैं तो आपको इंटरव्यू के लिए चयनित किया जाता है। इंटरव्यू 275 अंको का होता है। इंटरव्यू पूरा हो जाने के बाद मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू के नंबर को जोड़ कर कट ऑफ बनाया जाता है जिस से अधिक अंक लाने वाले उम्मीदवारों को उनके रैंक के अनुसार अलग-अलग पद के लिए चयनित किया जाता है। इनमें रैंक के हिसाब से अलग-अलग रैंक के पद दिए जाते हैं। सबसे टॉप रैंक वाले उम्मीदवारों को अपना मनपसंद जॉब रैंक चुनने की अनुमति मिलती है।

  1. ट्रेनिंग पूरी करें:

मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू पास हो जाने के बाद जब ओवरऑल रैंक जारी किया जाता है तो इसके बाद इसमें चयनित सभी उम्मीदवारों को ट्रेनिंग पूरा करना होता है। लगभग 1 साल की ट्रेनिंग के बाद उन्हें उनके पद पर जॉब ऑफर किया जाता है। आपकी जानकारी के लिए बता दें कि जिले का जिला अधिकारी IAS रैंक का अधिकारी होता है लेकिन आपको ट्रेनिंग के तुरंत बाद ही जिलाधिकारी नहीं बनाया जाता है, बल्कि सीखने के उद्देश्य से IAS रैंक के ही छोटे पद दिए जाते हैं। बाद में आपकी काबिलियत के आधार पर पदोन्नति करके जिलाधिकारी बनाया जाता है।

IAS बनाने से संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न एवं उनके उत्तर:

यदि आप भविष्य में IAS बनना चाहते हैं तो नीचे हम आपको उससे संबंधित कुछ महत्वपूर्ण प्रश्न एवं उनके उत्तर बताने जा रहे हैं जो आपके लिए काफी मददगार साबित होंगे।

1. 12वीं पास करने के बाद IAS की तैयारी कैसे करें?

IAS की परीक्षा अन्य परीक्षाओं के मुकाबले थोड़ा कठिन होता है। इसीलिए हमें इंटरमीडिएट के बाद से ही इसकी तैयारी करना शुरू कर देना चाहिए। ग्रेजुएशन के दौरान ही आप IAS की तैयारी करना शुरू कर सकते हैं और इससे संबंधित सभी स्टडी मैटेरियल इकट्ठा करके धीरे-धीरे पढ़ाई शुरू कर सकते हैं। बहुत सारे लोग ग्रेजुएशन पूरा करने के बाद IAS की तैयारी पर अपना ध्यान लगाते हैं इसके चलते उन्हें सफलता मिलने में देर हो जाती है।

लेकिन यदि आप इंटरमीडिएट के तुरंत बाद ही IAS की परीक्षा की तैयारी करना शुरू कर देते हैं तो आपको जल्द से जल्द इसमें सफलता मिल सकती है। क्योंकि ग्रेजुएशन के दौरान 3 से 4 सालों का समय IAS की परीक्षा की तैयारी करने के लिए काफी है। इसके लिए आप ग्रेजुएशन स्तर की पढ़ाई भी अच्छी तरह से करें क्योंकि मुख्य परीक्षा में आपको एक मुख्य विषय चुनना होता है जिससे संबंधित सवालों के जवाब आपको जरूर आना चाहिए। इसके लिए आप ग्रेजुएशन स्तर पर पढ़ाई जा रहे विषयों में से किसी एक पर बेहतर कमांड रख सकते हैं और उसे ही मुख्य परीक्षा में मुख्य विषय के रूप में चुन सकते हैं।

2. क्या IAS अधिकारी बनने के लिए न्यूनतम शारीरिक ऊंचाई जरूरी है?

जी नहीं! IAS अधिकारी बनने के लिए न्यूनतम शारीरिक ऊंचाई निर्धारित नहीं की गई है। इसीलिए किसी भी शारीरिक ऊंचाई वाला व्यक्ति IAS अधिकारी बन सकता है और देश की सेवा कर सकता है। हालांकि आईपीएस अधिकारी बनने के लिए न्यूनतम शारीरिक ऊंचाई की आवश्यकता पड़ती है।

3. क्या दिव्यांग व्यक्ति IAS अधिकारी बन सकता है?

जी हां! यदि आप शारीरिक रूप से दिव्यांग हैं तो भी आप IAS अधिकारी बन सकते हैं। भारत में ऐसे बहुत सारे IAS अधिकारी हैं जो शरीर के किसी अंग से दिव्यांग हैं और जिलाधिकारी या IAS अधिकारी के रूप में काम कर रहे हैं।

4. IAS अधिकारी बनने के लिए ग्रेजुएशन में कितने प्रतिशत अंक की आवश्यकता पड़ती है?

आपकी जानकारी के लिए बता दें कि IAS अधिकारी बनने के लिए ग्रेजुएशन में कितने प्रतिशत अंक की आवश्यकता पड़ती है इसका कोई निर्धारण नहीं किया गया है। इसका मतलब यह है कि किसी भी श्रेणी में ग्रेजुएशन की परीक्षा उत्तीर्ण करने के बाद आप UPSC द्वारा आयोजित किए गए सिविल सर्विसेज एग्जाम में अपीयर हो सकते हैं और उसे पास करके IAS अधिकारी बन सकते हैं।

5. UPSC (CSE) की परीक्षा कितने भागों में होती है?

UPSC (CSE) की परीक्षा तीन भागों में होती है:

  1. प्रारंभिक परीक्षा
  2. मुख्य परीक्षा
  3. साक्षात्कार

6. UPSC (CSE) प्रारंभिक परीक्षा पैटर्न क्या है?

UPSC (CSE) प्रारंभिक परीक्षा दो चरणों में कराई जाती है जिसके बारे में नीचे बताया गया है। यह दोनों परीक्षा एक ही दिन के दो अलग-अलग पालियों में कराई जाती है।

  • सामान्य अध्ययन I
  • सामान्य अध्ययन II (CSAT- Civil Services Aptitude Test)

सामान्य अध्ययन I परीक्षा पैटर्न:

  • कुल प्रश्न- 100
  • कुल अंक- 200
  • अधिकतम समय सीमा- 2 घंटे
  • नकारात्मक अंक- एक तिहाई

सामान्य अध्ययन II (CSAT- Civil Services Aptitude Test) परीक्षा पैटर्न:

  • कुल प्रश्न- 100
  • कुल अंक- 200
  • प्रश्न पत्र का प्रकार– वैकल्पिक
  • अधिकतम समय सीमा- 2 घंटे
  • नकारात्मक अंक- एक तिहाई

7. UPSC (CSE) मुख्य परीक्षा पैटर्न क्या है?

UPSC (CSE) की मुख्य परीक्षा वही उम्मीदवार देते हैं जो प्रारंभिक परीक्षा में क्वालीफाई होकर आते हैं। इसमें कुल 9 परीक्षाएं आयोजित कराई जाती हैं, जो अलग-अलग दिन देने होते हैं। UPSC (CSE) मुख्य परीक्षा पैटर्न की जानकारी नीचे दी गई है।

  • पेपर A: अनिवार्य भारतीय भाषा- 300 अंक
  • पेपर B: अंग्रेजी- 300
  • पेपर I: निबंध- 250
  • पेपर II: सामान्य अध्ययन I- 250
  • पेपर III: सामान्य अध्ययन II- 250
  • पेपर IV: सामान्य अध्ययन III- 250
  • पेपर V: सामान्य अध्ययन IV- 250
  • पेपर VI: वैकल्पिक विषय I- 250
  • पेपर VII: वैकल्पिक विषय II- 250

8. UPSC (CSE) इंटरव्यू कितने अंको का होता है?

UPSC (CSE) की मुख्य परीक्षा पास करने के बाद उम्मीदवार इंटरव्यू के लिए चयनित होते हैं। इंटरव्यू 275 अंकों का होता है। मुख्य परीक्षा और इंटरव्यू के अंक मिलाकर कटऑफ बनाए जाते हैं और उसके अनुसार रैंक निर्धारित किया जाता है।

निष्कर्ष

दोस्तों हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से IAS Officer कैसे बनें, के बारे में पूरी जानकारी संक्षेप में दी है। आशा करता हूं कि आपको हमारे द्वारा दी गई जानकारी अवश्य पसंद आई होगी। अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो आप हमें कमेंट करके अपनी राय अवश्य दें धन्यवाद।

 

और पढ़ें:

IPS Officer Kaise Bane

CA Kaise Bane

होम पेज

Leave a Comment