Bhasha Kise Kahate Hain: भाषा किसे कहते हैं | भाषा के कितने रूप होते हैं

Bhasha kise kahate hain | भाषा किसे कहते हैं | भाषा के कितने रूप होते हैं | भाषा की सबसे छोटी इकाई क्या है | भाषा की परिभाषा

आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से जानेंगे भाषा क्या है, भाषा किसे कहते हैं एवं हम भाषा के बारे में संपूर्ण जानकारी देंगे। आज के टाइम में अधिकतर लोग अपनी पढ़ाई इंटरनेट के माध्यम से कर रहे हैं। इसलिए हम आप सभी लोगों के लिए एजुकेशन से जुड़ी हर इंफॉर्मेशन देंगे। आज हम इस आर्टिकल के माध्यम से चर्चा करेंगे भाषा के बारे में।

भाषा किसे कहते हैं | Bhasha kise kahate hain?

अगर हम आसान शब्दों में समझे तो भाषा एक प्रकार की ऐसी प्रक्रिया है जिसके माध्यम से हम अपने शब्दों को दूसरे के प्रति व्यतीत करते हैं। या एक तरह से कहे तो हम लोग अपने शब्दों को बोलकर लिखकर अपने भावों का आदान प्रदान करते हैं। इसे ही भाषा कहा जाता है। हम जिस तरीके से अपने भावों को दूसरे लोगों तक पहुंचा सके उसे ही भाषा का जाता है। भाषा शब्द का इस्तेमाल सिर्फ और सिर्फ मनुष्य व्यक्ति ही कर सकता है।

भाषा शब्द संस्कृत के भाष् धातु से लिया गया है। भाष् का अर्थ होता है किसी भी चीज को भाषित करना। एक तरह से समझे तो हम सभी मनुष्यों के द्वारा मुंह से निकलने वाली बोलियों को ही भाषा कहा जाता है। भाषा के बहुत सारे मतलब और उनके अर्थ होते हैं। जिनके बारे में हम आपको नीचे विस्तार से पूरी जानकारी देंगे।

भाषा की परिभाषा

अगर हम भाषा को बहुत ही आसान शब्दों में परिभाषित करें तो भाषा एक ऐसा माध्यम है जिसके माध्यम से हम अपने विचार दूसरे लोगों के बीच रखते हैं। एक तरह से समझा जाए तो भाषा एक ऐसा साधन है जो हमें एक दूसरे लोगों के विचारों और भावनाओं को समझने में मदद मिलती है। कोई बोलकर अपने भाव या विचारों को व्यक्त करता है। तो कोई व्यक्ति अपने विचारों एवं भावों को संकेत एवं लिखित के माध्यम से व्यक्त करता है। भाषा को और आसान शब्दों में समझने के लिए आप इस आर्टिकल को अंत तक जरूर पढ़ें।

भाषा के भेद ( प्रकार ) | भाषा के कितने रूप होते हैं

अब हम जानेंगे कि भाषा कितने प्रकार की होती है। कुछ लोग यह भी जानना चाहते हैं कि भाषा के भेद क्या है। हम आपको इन सभी के बारे में नीचे जानकारी देंगे। भाषा मुख्य रूप से तीन भागों में बांटा गया है जो कि निम्न प्रकार है।

1 . मौखिक भाषा

मौखिक भाषा एक प्रकार की ऐसी भाषा है जिसके माध्यम से 2 से 3 लोग या अधिक लोग आपस में बात करके अपने भाव या विचार का आदान प्रदान करते हैं। जिसे हम मौखिक भाषा कहते हैं। एक तरह से हमारे वाणी से निकले हुए शब्द मौखिक भाषा के अंतर्गत आते हैं।

उदाहरण – स्कूल में अध्यापक बच्चों को पढ़ा रहे हैं तो यह एक मौखिक भाषा के अंतर्गत आता है। अगर कहीं नेता पब्लिक को भाषण दे रही है तो यह मौखिक भाषा के अंतर्गत आता है।

2 – लिखित भाषा

लिखित भाषा के अंतर्गत जब हम अपने विचार या भाव को लिखकर पहुंचाते हैं, उसे हम लिखित भाषा कहते हैं। जब कोई व्यक्ति किसी दूसरे व्यक्ति को लिखकर अपनी बात कहता है तो उसे हम लिखित भाषा के अंतर्गत लेते हैं।

उदाहरण – अगर आप यह हमारा आर्टिकल पढ़ रहे हैं तो यह एक लिखित भाषा के अंतर्गत आता है। इसके अलावा जब हम अपने माता-पिता या दोस्त को खत लिख कर सूचित करते हैं तो वह भी लिखित भाषा के अंतर्गत आता है।

3 – संकेतिक भाषा

जब दो व्यक्ति आपस में संकेतों के माध्यम से अपने विचार एवं भाव आदान-प्रदान करते हैं तो उसे संकेतिक भाषा कहते हैं। संकेतिक भाषा का इस्तेमाल वह लोग ज्यादा करते हैं जो बोल एवं सुन नहीं पाते हैं।

उदाहरण – छोटा बच्चा जब भूख प्यास या किसी चीज की जरूरत होती है तो बोल एवं लिख नहीं पाता है तो वह रो रो कर अपने संकेतिक भाषा में अपने भाव एवं विचार व्यक्त करता है।

निष्कर्ष

दोस्तों हमने आपको इस आर्टिकल के माध्यम से भाषा किसे कहते हैं, भाषा के भेद, परिभाषा, उदाहरण के बारे में जानकारी दी है। हमें उम्मीद है कि आपको इस आर्टिकल को पढ़ने के बाद भाषा के बारे में पूरी जानकारी अच्छे से प्राप्त हो गई होगी। हमने आपको भाषा के बारे में बहुत ही आसान शब्दों में समझाया है की भाषा क्या है और भाषा किसे कहते हैं। अगर आपको यह आर्टिकल अच्छा लगा हो तो आप हमें कमेंट करके अपनी राय अवश्य दें धन्यवाद।

 

और पढ़ें:

होम पेज

Leave a Comment